21वीं सदी के ये 3 प्रतिभाशाली खिलाड़ी, जो अपनी क्षमता के अनुसार नहीं कर सके प्रदर्शन

वर्तमान समय में विश्व क्रिकेट में बहुत से प्रतिभाशाली खिलाड़ी मौजूद है. कुछ खिलाड़ी अपनी प्रतिभा कों मैदान में उतार कर विश्व क्रिकेट में दिग्गज खिलाड़ी बन जाते हैं तों कुछ खिलाड़ी अपनी प्रतिभा का सही लाभ नही उठा पाते हैं और जीवन भर एक सामान्य खिलाड़ी बनकर रहे जाते हैं.

जब हम 21वी सदी की बात करते है, तो कुछ खिलाड़ी याद आते हैं. जिसमें महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली, स्टीव स्मिथ, केन विल्लियमसन और जो रूट जैसे खिलाड़ी मौजूद है. जिन्होंने अपनी प्रतिभा को मैदान में उतार कर क्रिकेट जगह में अपना शानदार मुकाम हासिल कर लिया है.

आज हम आपको अपने इस ख़ास लेख में यह बताएंगे, कि 21वी सदी के 3 ऐसे प्रतिभाशाली खिलाड़ी कौन-कौन है, जो अपनी क्षमता के अनुसार मैदान पर प्रदर्शन नहीं कर पाए.

एस श्रीसंत

s-sreesanth

एस श्रीसंत भारतीय टीम के एक तेज गेंदबाज रहे चुके हैं. इनके पास गति थी जिससें यह हर बल्लेबाज कों परेशान करते थे. इन्होंने घरेलू क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर का विकेट लेकर अपनी गेंदबाजी का प्रमाण भी दिया था.

एस श्रीसंत ने भारत के लिए 27 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें उन्होंने 87 विकेट अपने नाम किये थे. एस श्रीसंत ने भारत के लिए वनडे क्रिकेट में भी 53 मैच खेले, जिसमें उन्होंने 75 विकेट झटके थे. जबकि टी20 क्रिकेट में एस श्रीसंत केवल 10 मैच ही खेल पाये और इसमें उनके नाम 7 विकेट मौजूद है.

एस श्रीसंत का क्रिकेट करियर स्पॉट फिक्सिंग के कारण ही समाप्त हुआ था. आईपीएल 2013 के दौरान ये राजस्थान रॉयल्स की टीम का हिस्सा थे और फिक्सिंग के मामले में इनकों पुलिस ने पकड़ लिया था. जिसकें बाद इनका क्रिकेट करियर समाप्त हो गया था.

हालांकि बाद में इन्होने वापस घरेलू क्रिकेट खेला, लेकिन इनकी वापसी भारतीय टीम में नहीं हो पाई थी. श्रीसंत में जितनी प्रतिभा थी, उतना वह क्रिकेट में मुकाम हासिल नहीं कर पाए थे.

अजंता मेंडिस

ajanta mendis

अजंता मेंडिस श्रीलंका टीम के एक बहुत ही शानदार गेंदबाज रहे हैं. उन्होंने अपने करियर के शुरुआती सालों में विश्व भर के बल्लेबाजों को बहुत परेशान भी किया था. उनकी गुगली के आगे बड़े से बड़े बल्लेबाज घुटने टेक देता था. अजंता मेंडिस ने विश्व भर में बहुत ख्यति प्राप्त कर ली थी, लेकिन वह अपना करियर ज्यादा आगे तक नहीं ले जा सके. उन्होंने अपना अंतिम मैच साल 2015 में खेला था. अब अजंता मेंडिस ने क्रिकेट से सन्यास ले लिया है.

अजंता मेंडिस ने श्रीलंका टीम के लिए 19 टेस्ट मैच खेले हैं. जिसमें उन्होंने 70 विकेट अपने नाम किये हैं और वहीं उन्होंने 87 वनडे मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 152 विकेट हासिल किये हैं. अजंता मेंडिस ने श्रीलंका टीम के लिए 39 टी20 मैच भी खेले हैं, जिसमें उन्होंने 66 विकेट अपने नाम किये है.

रॉबिन उथप्पा

uthappA

रॉबिन उथप्पा ने 21 साल की उम्र में भारतीय टीम में अपना डेब्यू किया था. शुरुआती कुछ मैचों में उन्होंने शानदार प्रदर्शन भी किया था. वह बहुत ही आसानी के साथ बड़े-बड़े शॉट भी खेल लेते थे, लेकिन वह भारतीय टीम के लिए नियमित रूप से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके. जिसकी वजह से यह टीम से बाहर हो गये.

उथप्पा ने भारतीय टीम के लिए 46 वनडे मैच खेले हैं. जिसमें उन्होंने 25.94 की मामूली औसत के साथ 934 रन अपने नाम किये हैं. इस दौरान उन्होंने 6 अर्धशतक भी जड़े हैं. वहीं रोबिन उथप्पा ने भारतीय टीम के लिए 13 टी-20 मैच भी खेले हैं, जिसमे उन्होंने 24.9 की साधारण औसत के साथ 294 रन अपने नाम किये हैं. इस दौरान उनके बल्ले से एक अर्धशतक भी निकला था.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular